बेरोजगारी क्या होती है ऐच्छिक और अनैच्छिक बेरोजगारी में अंतर जानिए।

नमस्कार दोस्तों इस पोस्ट में आप जानेंगे कि बेरोजगारी क्या होती है? (What is unemployment), ऐच्छिक बेरोजगारी और अनैच्छिक बेरोजगारी में अंतर क्या होता है? (Difference between voluntary unemployment and involuntary unemployment), बेरोजगारी की परिभाषा, विकसित और विकासशील देशों में बेरोजगारी के प्रकार कौन से होते हैं। आइये शुरू करते हैं।

बेरोजगारी क्या होती है? (What is unemployment), ऐच्छिक बेरोजगारी और अनैच्छिक बेरोजगारी में अंतर क्या होता है? (Difference between voluntary unemployment and involuntary unemployment),


Table of contents (TOC)

बेरोजगारी की परिभाषा: हर देश में अलग अलग होती है जैसे अमेरिका में यदि किसी व्यक्ति को उसकी योग्यता के हिसाब से नौकरी नही मिलती है तो उसे बेरोजगार माना जाता है. सामान्य तौर पर बेरोजगार उस व्यक्ति को कहा जाता है जो कि बाजार में प्रचलित मजदूरी दर पर काम तो करना चाहता है लेकिन उसे काम नही मिल पा रहा है।

रोजगार की समस्या विकसित और विकासशील दोनों देशों में पाई जाती है। प्रसिद्द अर्थशास्त्री कीन्स बेरोजगारी को किसी भी समस्या से बड़ी समस्या मानता था। इसी कारण वह कहते था कि यदि किसी देश के पास बेरोजगारों से करवाने के लिए कोई भी काम ना हो तो उनसे सिर्फ गड्डे खुदवाकर उन्हें भरवाना चाहिए ऐसा करवाने से बेरोजगार लोग भले ही कोई उत्पादक कार्य न करें लेकिन वे अनुत्पादक कार्यों में संलिप्त नही होंगे और देश में वस्तुओं और सेवाओं की मांग बनी रहेगी जिससे देश में औद्योगिक विकास होता रहेगा।




Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad